घेवर रेसिपी/मलाई ghevar /रबड़ी घेवर/ghevar बनाने के सभी secrets जानिए

घेवर का नाम सुनते ही हमारे मुह में पानी आ जाता है. घेवर राजस्थान और उत्तर भारत की बहुत ही प्रसिद्ध और पारंपरिक sweet dish है. स्वाद में ये मीठे और खस्ता होते है . छापनभोग की प्रसिद्ध मिठाइयो में इससे शामिल किया गया है. सावन के महीने में रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर ghevar, मलाई ghevar , रबड़ी घेवर हर किसी की पहली पसंद होती है. तो आज हम सीखेंगे बिना मोल्ड के मलाई ghevar या रबड़ी ghevar कितनी आसानी से घर पर ही तैयार किया जा सकता है. मलाई घेवर बनाने के लिए आवश्यक सामग्री घेवर बनाने के लिए (For Ghevar )- कप मैदा (2 cup all-purpose flour) 2. 1/2 कप देशी घी ( 1/2 cup deshi Ghee) 3. 1/2 कप ठंडा दूध (1/2 cup chilled milk) 4. 2 से 3 बर्फ के टुकड़े (2-3 Ice cubes) 5. आधा कटा हुवा नींबू (Half lemon) 6. साढे तीन कप ठंडा पानी (3 1/2 cup chilled water) चीनी की चाशनी बनाने के लिए (For Sugar Syrup) - 1. 1 कप चीनी (1 cup sugar) 2. एक चौथाई कप पानी (1/4 cup water) 3. एक चौथाई चमच हरी इलाइची (1/4 tbsp green cardamom powder) मलाई या रबड़ी बनाने के लिए (For Malai (Rabdi) )- 1. ३०० ml. दूध (300 ml full cream milk) 2. 200 ग्राम खोया या मावा (200-gram Mava) 3. एक चौथाई कप चीनी (1/4 cup sugar) 4. 1/4 green cardamom powder 5. 12 -15 saffron threads 6. Some chopped dry fruits मलाई घेवर बनाने की विधि (Method ऑफ़ making ghevar) - सबसे पहले हम फीके और खस्ता ghevar तैयार करेंगे . इसके लिए हम बड़े मिक्सिंग बाउल में आधा कप देशी घी को दो से तीन बर्फ के टुकड़े डालकर तब तक फेंटेगे जब तक fluffy और क्रीमी टेक्सचर न हो जाये. fluffy होने के बाद बर्फ के टुकड़े निकल देंगे और उसमे मैदा को थोडा -थोडा करके डालेंगे और अच्छे से मिक्स करेंगे . उसके बाद ठंडा दूध इस मिक्सचर में whisker की मदद से धीरे -धीरे फेटते हुए ऐड करेंगे . इसके बाद हम साढे तीन कप पानी को भी इस मिक्सचर में थोडा -थोडा करके ही ऐड करेंगे . ध्यान रहे की गुठलिया या lumps नहीं पड़ने चाहिए .पारंपरिक तरीके से lumps फ्री घोल तैयार किया जा सकता है. देशी घी या रिफाइंड एक ऐसे बर्तन में गरम करेंगे जिस साइज़ के हमे घेवर बनाना हो. घेवर बनाने के लिए बाज़ार में इसके मोल्ड भी आते है आप मोल्ड लेकर घी वाले बर्तन में मोल्ड रखकर बना सकते है. बर्तन में घी या तेल 3 से 3.5 इंच की हाइट तक लीजिये. घेवर बनाने का तरीका - कडाही में घी अच्छा तेज गरम होना चाहिए और गैस की आंच मध्यम से हाई होनी चाहिए . एक घेवर बनाने के लिए हम 8 से 10 बड़े चमच घोल लेंगे और ध्यान रहे घोल को ठंडा ही रखना है . घी गरम होते ही घोल को हम बर्तन के सेण्टर में एक एक चमच करके धीरे धीरे डाले . पहला चमच डालते ही तेल में बुलबुले उठेंगे जब बुलबुले उठने बंद हो जाये तब हम अगला चमच घोल डालेंगे .इसी तरीके से हम ये प्रक्रिया दोहराएंगे. घोल डालने की प्रक्रिया के दौरान हम एक मेटल रोड या चाकू से ghevar के बीच में एक होल जैसी जगह बनाते रहेंगे जिससे की घोल बराबर चारो तरफ फ़ैल सके और अच्छे से कुक हो सके. एक घेवर बनने में 5 से 6 मिनट लगते है . घेवर जब हल्का भूरा हो जाये तब उसे एक मेटल या लकड़ी की रोड की मदद से घेवर के बीच में फसाकर हल्के हाथो से निकलकर एक जाली पर रखे और उस जाली के नीचे एक बड़ी थाली रख दे ताकि उसका अतिरिक्त तेल या घी निकल सके इसी तरीके से हम सारे घेवर तैयार कर लेंगे .दो कप आटे में 4 से 5 घेवर बनकर तैयार होते है. Step 2 एक कप चीनी में एक चौथाई कप पानी और एक चौथाई चमच हरी इलायची पाउडर डालकर एक तार की चाशनी तैयार करेंगे.चाशनी हलकी ठंडी होने के लिए छोड़ देंगे. Step 3 ३०० ml फुल क्रीम दूध और 200 ग्राम मावा और एक चौथाई कप चीनी डालकर दूध गाढ़ा करेंगे . दूध के गाढ़ा होते ही हम इसमें केसर, हरी इलायची का पाउडर और कुछ कटे हुए सूखे मेवे डालेंगे और 4 से 5 मिनट के लिए धीमी आंच पर पकने देंगे . इसके बाद हम गैस की आंच बंद कर देंगे और मलाई रबड़ी ठंडी होने देंगे . Step 4 मलाई घेवर की सजावट (Ghevar decoration) सारी चीजे ठंडी होने पर ही घेवर को हम डेकोरेट करेंगे वरना घेवर नम हो जायेगा और क्रिस्प नहीं रहेगा . घेवर को एक जाली स्टैंड पर रखेंगे और चाशनी को स्पून की मदद से घेवर के ऊपर चारो तरफ फैला देंगे . अब आप चाहे तो इसको सूखे मेवे से सजा कर यु ही खा सकते है या फिर हम अब इसके ऊपर मलाई डेकोरेट करेंगे . और ऊपर से chopped dry फ्रूट्स से गार्निश करेंगे . मलाई घेवर बनकर तैयार है सर्व करने के लिए . मलाई घेवर को हम 4 से 5 दिन फ्रिज में रखकर खा सकते है और बिना मलाई के चाशनी वाला घेवर 15 दिन तक रखकर खा सकते है और फीके घेवर एक महीने तक रख सकते है . मलाई घेवर बनाते समय कुछ ध्यान रखने योग्य बाते :- घी में बर्फ के टुकड़े डालकर अच्छे से फेटना है दूध बिल्कुल ठंडा लेना है . पानी भी बिल्कुल ठंडा लेना है . घोल में गुठलिया बिल्कुल भी नहीं पड़नी चाहिए. घोल हमें बिल्कुल पतला बनाना है. घोल को कडाही में ऊंचाई से और कडाही के बीच में डालेंगे . चाशनी चिपचिपी और एक तार की होनी चाहिए . अगर आपको हमारी ये घेवर की रेसिपी पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरुर करे और अपने अनुभव कमेंट बॉक्स में हमसे शेयर करना मत भूलियेगा . आप इस रेसिपी का विडियो हमारे youtube चैनल foodzlife पर देख सकते है . विडियो का लिंक नीचे दिया गया है - Thank you Happy Cooking

घेवर रेसिपी/मलाई ghevar /रबड़ी घेवर/ghevar बनाने के सभी secrets जानिए

घेवर रेसिपी,घेवर मिठाई ,ghevar kaise banate hai, घेवर बनाने की विधि, घेवर बनाने का तरीका , राजस्थानी मलाई घेवर ,रबड़ी मलाई घेवर,जयपुर घेवर