ढाबे वाला इंस्टैंट मूली मिर्च का अचार | mooli aur mirch ka dhabe wala achar | radish pickle

कहते हैं न किअगर खाने की थाली में अचार, चटनी और पापड़ न हो तो भारतीय खाने की थाली अधूरी मानी जाती है, हम घर में भोजन करते हैं या कही बाहर होटल इत्यादी में खाना खाने जाते हैं तो वहाँ खाने की मेज पर आपको अचार की एक छोटी सी प्याली ज़रूर मिलेगी, और मेज पर रखा यह अचार भारतीय जीवन शैली को दर्शाता हैं कि हम अपने खाने पीने में स्वाद को कितना ज्यादा महत्त्व देते हैं , तो आज हम अनगिनत स्वादों से भरपूर भारतीय जीवन शैली से जुड़े एक बहुत ही ज्यादा स्वादिष्ट मूली और मिर्च के इंस्टेंट अचार की बात करेंगे, मूली और मिर्च एक ऐसी सब्जी है जो आपको हर मौसम में बाजारों में मिल जाएगी और इनके फायदे इतने कि कोई भी अंग्रेजी दवा को मात दे दें, मूली से हमारा हाजमा दुरस्त रहता है, जिससे हमारे पूरे शरीर का मेटाबोलिज्म ठीक रहता है, अगर मेटाबोलिज्म ठीक रहेगा तो आपका बढ़ता वजन भी नियंत्रित रहेगा और आप कहीं ज्यादा स्वस्थ महसूस करेंगे, हरी मिर्च खाने से आपका स्ट्रेस लेवल कम होता है, इसमें मौजूद होते हैं antioxidents, ये हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढाता है, ऐसे देखा जाये तो कोई भी अचार तैयार होने में कम से कम दो सप्ताह का समय लग जाता है, लेकिन आज जो हम आपको मूली मिर्च के अचार की रेसिपी देने वाले हैं ये अचार आप तुरंत बना कर तुरंत परोस सकते हैं और इसके स्वादिष्ट जायके का आनन्द उठा सकते हैं, इस तरह का अचार अक्सर आपको ढाबे या होटलों और रेस्तौरेंट्स पर ही मिलेगा, ये स्वाद में चटपटा हल्का सा कच्चापन लिए हुए होता है जो हमारे खाने में जान डाल देता है, हमे खाना और भी स्वादिष्ट लगने लगता है, तो फिर देर किस बात की आइये जान लेते हैं की ये ढाबा स्टाइल मूली मिर्च का अचार कैसे बनाते हैं.. सामग्री (Ingredients): तैयारी में लगा समय: 5 मिनट बनने में लगा समय: 5 मिनट 15 हरी मिर्च (green chillies) 1 मूली (radish) 1 नींबू का रस (lemon juice) 1/4 बड़ा चम्मच हल्दी पाउडर (turmeric powder) 1 बड़ी चम्मच सौंफ (fennel seeds) 1 बड़ा चम्मच काली राई (black mustard seeds /raai) 1/4 बड़ी चम्मच लाल कश्मीरी मिर्च पाउडर (kashmiri red chilli powder) 1/2 छोटी चम्मच काला नमक (black salt) 1 बड़ा चम्मच गर्म सरसों का तेल (hot mustard oil) बनाने की विधि ढाबे वाला मूली और हरी मिर्च का अचार बनाने के लिए सबसे पहले आपने अच्छी किस्म की ताज़ी हरी मिर्च और मूली लेनी होगी, अब दोनों ही चीज़ों को साफ पानी में दो से चार बार धो कर उनके ऊपर लगा पानी या तो सुखा लें या किसी साफ़ कपडे या किचेन टावेल पेपर से पोंछ लें. अब मूली को छील लें और उसके हरे भाग को काट कर अलग कर दें , और मूली को लम्बाई में दो दो इंच के टुकड़ों में या हमारी तरह उसके थोड़े मोटे गोल गोल टुकड़े काट लें. अब हरी मिर्च को बीच से ऐसे चीरा लगायें कि मिर्च का दूसरा छोर जुड़ा रहे, हम मिर्चियों को उनके डंठल से अलग नहीं करेंगे, लेकिन यदि आप लम्बे समय के लिए ये अचार बनाना चाहते हैं तो डंठलों को तोड़ कर अलग कर दें. मिर्चियों को आप अपने अनुसार भी काट सकते हैं , कटी हुई मूली और हरी मिर्च को एक बड़े बर्तन में डालकर उसमे एक छोटी चम्मच नमक और 1/4 बड़ी चम्मच हल्दी पाउडर डालकर चम्मच की सहायता से अच्छे से मिला दें , सभी चीजे आपस में अच्छे से मिला लेने के बाद उन्हें इसी तरेह उसी बर्तन में कुछ घंटों या कम से कम आधे घंटे और ज्यादा से ज्यादा एक रात के लिए ढक कर छोड़ दें. कुछ घंटे बीत जाने के बाद आप नोटिस करेंगे की मूली के टुकड़े थोड़े नर्म हो चुके है और इन्होने नमक के साथ मिलकर काफी सारा पानी छोड़ा है अब ये मूली मिर्च से निकला हुआ पानी हम फेकेंगे नहीं बल्कि इसी में हम अचार को खट्टा करेंगे, इस पानी को हम एक बाइंडिंग एजेंट के रूप में इस्तेमाल करेंगे, लेकिन अगर आप लम्बे समय के लिए अचार बना रहे हैं तो ये बंधन एजेंट यानी की पानी फेंक दें और इसके स्थान पर तेल को बंधन एजेंट के रूप में इस्तेमाल कीजियेगा, जिससे आपका अचार महीनो तक भी ख़राब नही होगा. अब समय आता है इसमे मसाले मिला लिए जाएँ, और मसाले भी बस नाम मात्र, राई और सौफ. अगर अचार को बढ़िया लाल रंग देना चाहते हैं तो कश्मीरी लाला मिर्च पाउडर मिला दें थोडा सा, नमक, काला नमक और नींबू का रस डालकर अच्छे से मिलाएं, अगर नींबू का रस नही है तो आप इस अचार को आमचूर पाउडर या 2 चम्मच सिरके से भी खट्टा कर सकते हैं. अब अंत में एक बड़ा चम्मच तेज गर्म किया हुआ सरसों का तेल मिला दें ऊपर से . लीजिए तैयार है हमारा ढाबे वाला चटपटा कम मसालों में बना हुआ मूली मिर्च का इंस्टेंट अचार. तैयार अचार को तीन से चार घंटे बाद परोसेंगे तब ज़्यादा अच्छे परिणाम मिलेंगे, आप इसे छोले कुल्चे, छोले भठूरे, दाल चावल या किसी भी अन्य चीज़ के साथ परोस सकते हैं, कुछ ध्यान देने योग्य बातें: मिर्च मूली को धो कर सुखाना जरुरी है, नमक हल्दी लगाने के बाद उन्हें कुछ घंटे ढक कर रखना आवश्यक है. अगर लम्बे समय के लिए अचार बना रहे हैं तब आप मिर्च के डंठलों को तोड़कर उनसे अलग कर दें वर्ना अचार में सडन पैदा हो जाएगी, साथ ही साथ सरसों के तेल को गर्म कर के ठंडा कर के इतना मिला दें की अचार तेल में डूबा रहे इससे अचार ख़राब नहीं होगा और दो चम्मच सिरका भी मिला दें जिससे अचार खट्टा भी होगा, लम्बे समय तक ख़राब भी नहीं होगा और स्वादिष्ट भी बनेगा.. ये इंस्टेंट अचार है तो आप एस अचार को लगभग एक से डेढ़ हफ्ते फ्रिज के अंदर रखकर एन्जॉय कर सकते हैं.. हमे उम्मीद है की आपको ये ढाबे वाला इंस्टेंट मूली मिर्च का अचार जरुर पसंद आयेगा, आप इसे बनायें खाएं और अपने बहुमूल्य अनुभव हमारे साथ साझा करें, आप हमे अपनी कीमती राय भी दे सकते हैं हमे ज़रूर अच्छा लगेगा. इस रेसिपी को ज्ययाा से ज्दादा शेयर करें और अपना लाइक देकर हमें प्रोत्साहित करें | धन्यवाद HAPPY COOKING आप इस रेसिपी को विडियो के ज़रिये भी देख कर बना सकतेहैं, विडियो अच्छा लगे तो LIKE और SHARE कीजिये और ऐसी नई नई वीडियोज़ देखने के लिए चैनल सब्सक्राइब कीजियेगा ... हैशटैग #अचार #मूलीमिर्चकाअचार #pickle #picklerecipe #instantpickle #radishpickle #greenchillipickle #moolimirchkaachar #foodzliferecipe

ढाबे वाला इंस्टैंट मूली मिर्च का अचार | mooli aur mirch ka dhabe wala achar | radish pickle

आज जो हम आपको मूली मिर्च के अचार की रेसिपी देने वाले हैं ये अचार आप तुरंत बना कर तुरंत परोस सकते हैं और इसके जायके का आनन्द उठा सकते हैं