Item List

चावल के खट्टे पापड़ / Rice Papad/ Rice sour Papad/ चावल के खट्टे पापड़ बनाने की परफेक्ट रेसिपी

पापड़ सिर्फ होली , दिवाली या किसी अन्य त्यौहार में ही पसंद नहीं किये जाते बल्कि अब ये भारतीय खानपान का अहम् हिस्सा बन चुके है। भारतीय थाली बिना अचार और पापड़ के अधूरी मानी जाती है। पापड़ कई तरह के अनाजों के आटे से बनता है इसके साथ ही अन्य सामग्री से भी बनता है। लिज्जत पापड़ के बारे में तो हर किसी को पता होगा। आज की तारीख में पापड़ उद्योग एक बहुत बड़ा उद्योग बन चुका है , बहुत सारे लोगो को रोजगार पापड़ उद्योग से मिला हुआ है। भारत की अर्थव्यवस्था में भी इसका बहुत बड़ा योगदान है। चावल के कुरकुरे पापड़ का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है , कई तरह से चावल के पापड़ बनते है , आज मै आप सबके लिए लेकर आयी हूँ चावल के खट्टे पापड़ और वो भी बिना किसी खट्टी सामग्री का इस्तेमाल किये हुए। ये पापड़ खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगते है और इनको बनाना बहुत ही आसान है। चावल के खट्टे पापड़ बनाने के लिए आवश्यक सामग्री १/४ कप चावल (चावल आप कोई भी ले सकते है ) १/४ कप साफ़ पानी १/४ छोटा चम्मच नमक १/४ छोटा चम्मच कलौंजी चावल के खट्टे पापड़ बनाने की विधि 1. 1/4 कप चावल लेकर उसे साफ़ पानी में ३ दिनों के लिए भिगो दे। चावल को भिगोने से पहले उन्हें अच्छे से धो ले। 2 . २ से ३ दिन तक चावल को पानी में भिगोने के बाद आप देखेंगे उसके ऊपर झाग आ जाता है , अब हम चावल को साफ़ पानी से कई बार अच्छे से धुल लेंगे , और ये देख ले चावल में कोई गन्दगी न रहे। मुट्ठी में थोड़े से चावल लेकर दबाकर देख ले अगर दबाने से चावल टूटने लगे तो चावल परफेक्ट भीग गए है और अब इस चावल से आपके पापड़ बिलकुल परफेक्ट बनेंगे और सूखने पर टूटेंगे भी नहीं। 3 . चावल को मिक्सर ग्राइंडर जार में शिफ्ट कर लेंगे और जितने चावल है उतना ही पानी मिला लेंगे। बारीक पीस लेंगे। 4 . चावल के घोल को किसी बर्तन में शिफ्ट कर लेंगे और एक चौथाई छोटा चम्मच नमक मिला लेंगे , अच्छे से मिक्स कर लेंगे। 5 . चावल का घोल प्राकृतिक रूप से खट्टा हो सके इसके लिए हमे इस घोल में कोई भी खट्टी चीज नहीं मिलानी है बल्कि हम घोल को रात भर के लिए ऐसे ही ढककर रख देंगे। 6 . अगले दिन आप देखेंगे घोल थोड़ा गाढ़ा हो गया है लेकिन हमे इसमें पानी नहीं मिलाना है। हम घोल को किसी चम्मच की सहायता से अच्छे से मिक्स कर लेंगे। आप ये भी नोट करेंगे कि घोल में bubbels आ गए है ये इस बात की निशानी है कि आपका घोल बहुत अच्छा तैयार हुआ है और इस घोल से पापड़ बहुत अच्छे बनेंगे। 7 . आप घोल में अपनी पसंद और स्वाद के अनुसार कलौंजी , जीरा , हरी मिर्च , लाल मिर्च , कालीमिर्च कुछ भी मिला सकते है। ८. चावल के पापड़ भाप में बनाने के लिए आप टिफ़िन के ढक्कन , कटोरी ले सकते है। आप अपनी सुविधा के अनुसार छोटे -बड़े जैसे भी पापड़ बनाने है उसके अनुसार बर्तन ले सकते है। ९. टिफ़िन के ढक्कन या कटोरी में एक बार थोड़ा सा तेल या घी लगा लेंगे , बार - बार तेल या घी लगाने की जरुरत नहीं है १०. एक छोटा चम्मच घोल लेकर ढक्कन में फैला लेंगे अतिरिक्त घोल को निकल दे। इसी तरीके से सारे मोल्ड तैयार कर लेंगे। 11. थोड़ी सी फैली हुई एक कड़ाही ले लेंगे। कड़ाही में दो गिलास पानी ले लेंगे और कड़ाही में एक वायर रैक रखेंगे आंच तेज कर देंगे और इस्टीम बन सके इसके लिए कड़ाही को ढक देंगे। १२.इस्टीम बनने के बाद सारे मोल्ड या जितने भी मोल्ड कड़ाही में आ सके वो रख देंगे। सिर्फ ३० से ४० सेकंड के अंदर ये पापड़ बनकर तैयार हो जाते है। पापड़ को ऊँगली से चेक कर ले अगर ये चिपचिपे नहीं है तो पापड़ बनकर तैयार है। मोल्ड को कड़ाही से बाहर निकाल ले। पापड़ को मोल्ड से डेमौल्ड करने का सबसे आसान तरीका है कि चम्मच के पिछले हिस्से से पापड़ को मोल्ड से सावधानी से निकाल ले। १३. जब पापड़ थोड़े ठन्डे हो जाये तब उन्हें किसी फ्रिज मैट , पॉलीथीन या किसी कपडे पर सूखने के लिए फैला ले। आप इन्हे धूप में भी सूखा सकते है और घर के अंदर पंखे की हवा में भी। १४. सिर्फ एक दिन में ही पापड़ सूखकर खाने के लिए तैयार हो जाते है। १५. पापड़ तलने के लिए तेल को अच्छा गरम कर लीजिये फिर गैस की आंच को कम करके पापड़ तल लीजिये। चावल के खट्टे पापड़ बनकर तैयार है , आप इन्हें गर्मागर्म सर्व कीजिये . अगर चावल के खट्टे पापड़ की रेसिपी आपको पसंद आती है तो लाइक, शेयर और कमेंट जरुर करे . इस रेसिपी का विडियो आप हमारे youtube चैनल foodzlife पर देख सकते है .

Aam Ka Galka - कच्ची कैरी की लौंजी - गलका - गुड़म्बा

भारत में कच्चे आम की लौंजी बहुत लोकप्रिय हैं यहां गर्मियों के मौसम में आम बहुत ही आसानी से मिल जाते हैं। सभी घरों में लोग अक्सर इसको बनाते हैं अलग अलग स्थानों पर इसके विभिन्न नाम हैं जैसे कि कच्चे आम की लौंजी, गुड़म्बा,आम का गलका या फिर अमिया की खट्टी मीठी चटनी इसे लोग बड़े ही शौक से खाते हैं।पूड़ी, पराठा या कचौड़ी सभी के साथ इसका बहुत बेहतरीन मेल है आप इसे बच्चों के टिफिन में भी दे सकते हैं इसे अक्सर लोग पार्टी के मेन्यू में शामिल करते हैं। गुड़म्बा या कच्चे आम की लौंजी बनाने की विधि (How to make aam ki lounji) - लौंजी बनाना बड़ा ही आसान है और बहुत कम समय में बन कर तैयार हो जाती हैं आप इसे फ्रीज में 15 से 20 दिनों तक रख कर खा सकते हैं तो आइए देख लेते हैं इसे बनाने की विधि आवश्यक सामग्री (Ingredients for Aam Ka Galka ) - 600 ग्राम कच्चे आम(Raw Mango)
1/4 tsp कलौंजी(Onion seeds)
1/4 tsp जीरा(cumin seeds)
1/4 tsp सौफ(fennel seeds)
2 tsp भुना हुआ धनिया और जीरे का पाउडर
(साबुत धनिया और जीरा तवे पर भूनकर पीस लें)(Roasted cumin and coriander powder)
2 tbsp किसमिश और मगज के बीज(Raisins and magaz seeds)
1 tbsp बारीक कुटा हुआ सौफ का पाउडर(crushed fennel seeds)
300 gram गुड़ या चीनी(Jaggry or sugar)
1 tsp लाल मिर्च पाउडर(Red Chilli powder)
1 tsp हल्दी पाउडर(Turmeric powder)
सफेद और काला नमक स्वादानुसार(White and black salt according to your taste) Method (विधि) – सबसे पहले आम को अच्छे से धो कर उसका छिलका उतार दें और उसको टुकड़ो में काट ले और अब 2 से 3 चम्मच सरसों का तेल डालकर गर्म करें। तेल गर्म होने पर उसने कलौंजी सौफ और जीरा से तड़का लगाएं। मसालों को चटकने दे इसके बाद तेल में हल्दी डालेंगे फिर हम आम डालेंगे और अच्छे से मिक्स करेगे। और 2 मिनट तक ढक कर मीडियम आंच पर पकाएं। अब ढक्कन हटा कर उसमें सफेद और काला दोनों नमक स्वादानुसार डालेंगे। उसके बाद लाल मिर्च पाउडर डालेंगे और फिर अच्छे से भून लेंगे। अब हम इसमे गुड़ या चीनी मिलाएंगे और आधा ग्लास पानी डालेंगे ।पानी हम कम ही डालेंगे क्योंकि आम का अपना रस होता है और गुड़ भी घुल के तरल हो जाता है तो आम अपने रस में ही पक जाएगा इसलिए हम पानी कम डालते है। अब 5 मिनट के लिए ढक कर धीमी आंच पर पकने दें। 5 मिनट बाद हम दोबारा ढक्कन हटा के देखेगे तो आम लगभग नरम हो चुके होंगे अब हम इसमे कूटा हुआ सौफ का पाउडर डालेंगे और एक एक चमच्च किसमिस और मगज के बीज डालेंगे (यह आप्शनल है)। अब दोबारा ढक्कन लगा कर दो मिनट और पकाएं। 2 मिनट बाद हम देखेंगे कि मसाले आपस मे अच्छे से मिक्स हो गए है अब हम अंत मे 2 tsp भुना हुआ जीरा और धनिया पाउडर डालेंगे और अच्छे से मिक्स करेगे और गैस फ्लेम बन्द करके कुछ देर के लिए ढक्कन से ढक देगे ताकि मसाले अच्छे से आपस मे मिल जाएं। तो लीजिये बनकर तैयार है आम की खट्टी मीठी लौजी

Bharwa karele | Stuffed Bitter Gourd – भरवा करेले

Dahi Phulki Recipe - दही फुलौरी (रायता) - Fulauri

दही फुलकी, दही बड़ों से थोडा सा अलग है | दही बड़े बनाने में दाल का प्रयोग होता है और इनको बेसन से बनाया जाता है | आप इन्हे इंस्टेंट दही भल्ले बोल सकते है | आवश्यक सामग्री - (Ingredients for Dahi Fulki) पकौड़ों के लिए सामग्री - बेसन 1 कप लाल मिर्च पाउडर 1 tsp हींग 1 पिंच नमक बेकिंग सोडा 1/2 tsp (ऑप्शनल ) तलने के लिए तेल रायते के लिए सामग्री - दही 2 कप चीनी 1/2 tbsp भुनी लाल मिर्च पाउडर 1 tsp भुना जीरा पाउडर 1-2 tsp काला नमक 1 tsp नमक स्वादानुसार पकोड़े बनाने की तैयारी (Preparation of Pakoda) - एक मिक्सिंग बाउल में बेसन डालें और बाकी के मसाले डालें और एक अच्छा सा गाढ़ा घोल तैयार करें और दस मिनट रेस्ट के लिए छोड़ दें। दस मिनट के बाद पकोड़े तलने के लिए तेल गर्म करें। दस मिनट के बाद घोल के पकोड़े सुनहरे होने तक तल लें। रायते के लिए - एक मिक्सिंग बाउल में दही लें और फिर ऊपर लिखी रायते की सामग्री को दही में मिला दें। दही को अच्छे से फेंट लें, और फिर पकौड़ियों को दही में डाल दें, और कम से कम एक घण्टे के लिए दही में भीगने दें। तैयार दही फुलौरी को इमली की मीठी चटनी के साथ परोसें। आशा करती हूं कि आपको मेरी यह रेसिपी जरूर पसंद आएगी।

Grilled Paneer Sandwich (पनीर सैंडविच )

पनीर सैंडविच एक हेल्दी नाश्ता है, वेटलॉस के लिय पनीर सैंडविच सही है। पनीर सैंडविच एक जल्दी बन जाने वाली आसन सी डिश है, आप पनीर सैंडविच बहुत आसन और जल्दी से बना सकते है | आवश्यक सामग्री - (Ingredients for Grilled Paneer Sandwich) 4 सैंडविच ब्रेड स्लाइस
1 शिमला मिर्च
100 ग्राम पनीर
1 हरी मिर्च
2 tbsp म्योनीज
बारीक कुटी काली मिर्च
नमक स्वादानुसार
घी या  बटर विधि - How to make Grilled Paneer Sandwich सबसे पहले पनीर शिमला मिर्च और हरी मिर्च  को छोटे टुकड़ों में काट लेंगे। अब एक मिक्सिंग बाउल मैं यह सारी चीजें डालेंगे और उसमें दो चम्मच म्योनीज ऐड करेंगे। कुटी काली मिर्च और स्वादानुसार नमक ऐड करेंगे। अच्छे से मिक्स करेंगे ।और फिर ब्रेड की एक स्लाइस पर ये मिक्सचर स्प्रेट करेगे। और दूसरी ब्रेड की स्लाइस को ऊपर से कवर कर देंगे।और फिर एक ग्रिल्ड पैन पर हल्का घी या बटर लगाकर दोनों साइड से अच्छे से सेक लेगें | सेकने के बाद सैंडविच को दो भागों में काट लेगे ,और फिर टोमेटो सॉस के साथ सर्व करेगे। तो लीजिये तैयार हैं आपके ग्रिल्ड पनीर सैंडविच। आप इसका विडियो भी देख सकते हैं| आप ये रेसिपी ट्राई करे और अपने अनुभव कमेंट बॉक्स में जरूर शेयर करे | धन्यवाद्

Karele ka Achar - Bitter Gourd Pickle - करेले का अचार

Pizza base dough recipe in hindi without yeast oven | पिज़्ज़ा बेस रेसिपी इन हिंदी

आज की जनरेशन में पिज़्ज़ा बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय होता जा रहा है। अगर इसे हम आसान सामग्री के साथ जो हमारे घरों में आसानी से मिल जाये और हेल्दी तरीके से घर पर ही बना लें तो हम इसे बिना ज्यादा पैसा खर्च किये घर पर ही एकदम फ्रेश और टेस्टी पिज़्ज़ा एन्जॉय कर सकते है।

Red wine | Black Grape Wine Recipe | Healthy Homemade Red Wine | Traditional Wine

How to make red wine - वाइन बनाने की विधि - Step 1- काले अंगूरों को उनके डंठल से अलग कर के चलते पानी मे अच्छे से धुलें और फिर हवा में अच्छे से फैला कर सुखा लें। गेहूं को अच्छे से धो कर धूप में सुख लें और यीस्ट को एक tbsp शक्कर और 1/2 कप गुनगुने पानी मे घोल कर ढक कर रख दें 15 मिनट के लिए। एक जार को गरम पानी से धो कर अच्छे से सुखा लें या किसी साफ कपड़े से पोंछ लें। STEP 2 - सूखे जार में अंगूरों को डालकर किसी लकड़ी के साफ चमचे से कुचलें। उसके बाद उसमे चीनी का आधा हिस्सा मिलाएं, आधा हम बाद में मिलाएंगे। बाकी की सामग्रियां भी मिला कर अच्छे से चला लें। STEP 3 - Fermentation जार को उसके ढक्कन से बंद करें और सुनिशित कर लें कि आपका जार एयरटाइट हो। STEP 4 - Do Daily Checks From Day 1 to 21 अब 21 दिनों तक आप उस जार को किसी सूखी और अंधेरी जगह पर रखें, और हर रोज़ जार में मौजूद चीज़ों को किसी सूखे लकड़ी के चम्मच से चलाये। STEP 5 - Filteration & Further Fermentation अब एक छन्नी से जार की सारी चीजों को किसी लकड़ी के चम्मच या साफ सूखे हांथों से निचोड़कर उनके जूस से अलग कर दीजिए। अब एक साफ जार लें और बाकी की बची 250 ग्राम शक्कर को जार में डालें और ऊपर से अंगूरों का जूस डालें जो कि हमने छान कर रखा है।
अच्छे से मिलाएं और दोबारा जार के ढक्कन को बंद करें और वापिस 21 दिनों के लिए अपनी पुरानी जगह पर रखें। ध्यान रखे कि अब इन 21 दिनों में कोई भी चेक नही करना अर्थात रोज़ रोज़ नही चलाना है। STEP 6 - After another 21 days जार को खोलें, और जार के ऊपर का हल्का जूस वाइन ग्लास में परोसें या फिर स्टोर करें किसी कांच की साफ बोतल में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - 1 - यीस्ट कौन सा लेना चाहिए? यीस्ट बाजार में कई प्रकार के उपलब्ध हैं वाइन बनाने के लिए एक विशेष प्रकार का वाइन यीस्ट मिलता है। अगर किसी कारण वश नही मिल पाता तब आप ब्रेड बनाने में प्रयोग होने वाला ड्राई यीस्ट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 2 - वाइन बनाने के दौरान गेहूँ और चीनी का स्तेमाल क्यों किया गया है? यीस्ट का उपयोग वाइन किण्वन के लिए किया जाता है और गेहूँ के उपयोग टैनिंग के लिए किया जाता है और गेहूं में स्टार्च होता है यह स्टार्च यीस्ट द्वारा किण्वनीय शर्करा में परिवर्तित हो जाता है।

Smart kitchen tips and triks/बहुत ही उपयोगी किचन टिप्स जो आपके किचन के काम को आसान बना देंगे.

अक्सर ऐसा होता है किचन में काम करते समय हमे बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है तो हम इस उलझन में पड़ जाते है कि इस समस्या से कैसे निकले . आज मै आपके साथ कुछ बहुत ही उपयोगी किचन टिप्स शेयर करुँगी जो आपके किचन के काम को बहुत ही आसान बनाएगी और आपके साधारण से खाने को टेस्टी भी बनाएगी . आप सभी को पता है कि अनार खाने से या अनार का जूस पीने से हम anemic होने से बच सकते है लेकिन क्या आपको पता है कि अनार खाने के बाद हमे इनके छिलकों का क्या करना है .ये छिलके हमारे बहुत काम आ सकते है इन्हें five star होटल के शेफ भी use करते है . छोले बनाते समय हम सब ये चाहते है कि छोले का काला रंग निखर कर आये और इसके लिए हम teabags या आमला का इस्तेमाल करते है लेकिन अगर हम इसकी जगह अनार के कुछ छिलके छोले को काला करने के लिए प्रयोग में लाते है तो छोले का रंग आसानी से काला हो जाता है . छोले को उबालने से पहले कुछ अनार के छिलके , थोडा सा नमक और पानी डालकर कूकर में पका लेंगे .पकने के बाद आप देखेंगे कि छोलों का रंग काला हो गया है . पकने के बाद अनार के छिलकों को छोलों से निकालकर फ़ेंक दीजिये . आप अनार के छिलकों को सुखाकर भी किसी एयरटाइट जार में रख सकते है और जरुरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकते है . रोजमर्रा की भागदौड़ और समय के अभाव में कभी कभी हमे लहसुन को छीलने में बहुत परेशानी होती है और समय भी बर्बाद होता है , हम चाहते है कि हमे छिला हुआ लहुसन मिल जाए . हम लहुसन को पहले से ही छीलकर किसी कांच की जार में भरकर फ्रिज में रख देंगे लेकिन ध्यान रहे लहसुन को जार मे रखते समय लहसुन में या जार में पानी की एक भी बूंद नहीं होनी चाहिए नहीं तो लहसुन ख़राब हो सकता है . चाय पीने के शौक़ीन तो काफी लोग होते है और घर में इतनी दफा चाय बन जाती है कि छन्नी में चाय पत्ती के छोटे छोटे कण अटक जाते है फिर हमे उस छन्नी से चाय छानने में बहुत दिक्कत होती है .इसके लिए एक बहुत ही आसान टिप्स है गैस जलाकर उस पर छन्नी को खूब अच्छे से गरम कर ले उसके बाद एक टूथब्रश की मदद से जाली को अच्छे से साफ़ कर ले .इस तरीके से छन्नी से बारीक़ से बारीक़ कण भी निकल जाते है . जब भी हम कूकर में दाल, छोले , राजमा जैसी चीज बनाते है तो अक्सर ऐसा होता है कि ये उबलकर कूकर से बाहर आने लगती है जिससे बर्तन तो गंदे होते ही है किचन में भी गन्दगी हो जाती है . ऐसा न हो इसके लिए एक बहुत ही आसान टिप्स है , जब भी कूकर में कोई ऐसी चीज बनाये तो कूकर में थोडा सा तेल या घी डाल दे .इससे चीजे उबलकर बाहर नहीं आएँगी और स्वाद भी बढ़ जायेगा . लहसुन अदरक का पेस्ट लम्बे समय तक स्टोर करने के लिए सबसे पहले आप लहसुन और अदरक को बिना पानी डाले मिक्सी में पीस ले ध्यान रखे पेस्ट में लहसुन की मात्रा अदरक से दोगुनी रखनी है .फिर इस पेस्ट को किसी एयरटाइट जार में दो से तीन छोटे चम्मच सरसों का तेल मिलाकर फ्रिज में रख दे और जब जरुरत हो तब इस्तेमाल करे . आप इसे 15 से 20 दिनों तक रखकर इस्तेमाल कर सकते है ये ख़राब नहीं होगा . लोहे के बर्तन जैसे कि तवा, कडाही इत्यादि में तेल इतना जम जाता है और इतने ज्यादा गंदे हो जाते है कि उन्हें साफ़ करने में पसीने छूट जाते है , हम उन्हें नींबू, सिरका , ditergent इत्यादि से साफ़ करने की मसक्कत करते है लेकिन वो है कि साफ़ होने का नाम ही नहीं लेते . इन्हें चमकाने का एक बहुत ही पुराना और आसान तरीका है आप एक कच्ची इंट का टुकड़ा ले ले ये बड़ी आसानी से आपके आसपास ही मिल जायेगा . लोहे का तवा या कडाही को साफ़ करने के लिए उस पर थोडा थोडा पानी डालते हुए इंट के टुकड़े से अच्छे से उस पर घिसे थोड़ी ही देर में ये बर्तन नए जैसे चमकने लगेंगे. जब भी हम मार्केट से अदरक खरीद कर लाते है तो वो एक या दो दिन में ही ख़राब होने लगती है , सूखने लगती है और उसमे से बदबू आने लगती है . अदरक लम्बे समय तक ख़राब न हो और ताज़ी बनी रहे इसके लिए अदरक को अच्छे से साफ़ पानी से धुलकर किसी जार में रखकर उसमे साफ़ पानी भरकर उपर से ढकन बंदकर फ्रिज में रख दे . ध्यान रखे हर दुसरे दिन पानी बदल दे . इस तरीके से आप अदरक को महीने भर तक स्टोर करके इस्तेमाल में ला सकते है . कभी कभी हम कुछ चीजे जैसे कि छोला, राजमा , दाले इत्यादि को भिगोकर रख देते है लेकिन कभी कभी ऐसा हो जाता है कि वक़्त पर हम उनका इस्तेमाल नहीं कर पाते फिर हमे डर होता है कि ये चीजे ख़राब न हो जाये. उन्हें ज्यादा समय तक कैसे तरोताजा रखा जा सकता है इसके लिए एक आसान टिप्स है -आप उसे धुलकर किसी बर्तन में रख दे और उस बर्तन में इतना पानी भर दे की वो सामग्री पानी में डूबी रही , लेकिन ध्यान रहे कि हर दूसरे दिन उसका पानी जरुर बदल दे और उसे फ्रिज में ही रखे . तो ये थी कुछ उपयोगी किचन टिप्स जो आपके रोजमर्रा के काम को आसान बनाने में काम आएँगी .उम्मीद है ये आपको पसंद आएँगी . आप इसका वीडियो हमारे youtube चैनल foodzlife पर देख सकते है-

Vrat Ka Khana-Vrat Ki Thali - व्रत की थाली | Navratri Recipes - FoodzLife

व्रत का रायता, व्रत की खीर, व्रत का अचार, व्रत की पूरी, व्रत की आलू सब्जी, व्रत वाली आलू की भुजिया, व्रत की आलू टिक्की,

आंवले का अचार | Amla Pickle Recipe | Gooseberry pickle recipe

कुरकुरे फूले फूले दिल्ली के मशहूर गोलगप्पे / Suji ke Golgappe/Pani Puri Recipe/

गोलगप्पे तो हर किसी को बहुत पसंद होते है . गोलगप्पे का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है .गोलगप्पे या पानीपूरी एक प्रसिद्ध नास्ता है इसे उत्तर भारत में पानीपूरी या गोलगप्पे , पूर्व भारत में पुचका ,दक्षिण भारत में पानीपूरी और पश्चिम भारत में गुपचुप के नाम से जाना जाता है .गोलगप्पे का इतिहास बहुत पुराना है महाभारत में भी इसका जिक्र मिलता है कि जब द्रोपदी पहली बार अपने पतियों संग ससुराल आई थी तब कुंती ने उन्हें कुछ ऐसा बनाने को कहा था जिससे पांडवो का पेट भर जाये , तब द्रोपदी ने अपनी कला से पानीपूरी यानि गोलगप्पे तैयार किये थे , इसे खाकर पांडव खुश हो गए थे . ऐसा माना जाता है तभी कुंती ने द्रोपदी को अमरता का वरदान दिया था . गोलगप्पे आटे से भी बनाये जाते है और सूजी से भी . सूजी के गोलगप्पे बहुत ही कुरकुरे बनते है . आप हमारी बताई हुई विधि से बहुत ही आसानी से सूजी के कुरकुरे गोलगप्पे घर पर बना सकते है . गोलगप्पे बनाने के लिए आवश्यक सामग्री ( Ingredientes for panipuri/Golgappe ) - गोलगप्पे के लिए - 250 ग्राम सूजी (महीन)
1चुटकी खाने का सोडा
1 बड़ी कलछी खौलता गरम तेल
आटा लगाने के लिए खौलता हुआ पानी गोलगप्पे के पानी के लिए - डेढ़ लीटर पानी
1/2 चम्मच गरम मसाला
1 चम्मच भुना जीरा
3 चम्मच जलजीरा
एक चुटकी हींग
हरी धनिया की चटनी
1/2 चम्मच लाल मिर्च
2 बड़े नींबू का रस
बूंदी भीगी हुई
काला एवं सफेद नमक स्वादानुसार गोलगप्पे बनाने की विधि ( How to make Panipuri / Golgappa ) - सबसे पहले सूजी को एक बाउल में डालें ( ध्यान रहे सूजी एकदम महीन होनी चाहिए वरना गोलगप्पे नही बनेंगे) और उसमें एक से दो चुटकी खाने का सोडा डालकर मिलाएं, अब उसमें एक भरी करछी खौलता हुआ रिफाइंड तेल डालें, उसको एक चम्मच की सहायता से मिक्स करें, अब आवश्यकतानुसार खौलते हुए गरम पानी से आटा लगायें, आटा हल्का ढीला ही लगाए और उसको 20 मिनट के लिए एक गीले कपड़े से ढक कर रेस्ट पर छोड़ दें। 20 मिनट के बाद जब आप देखेंगे तो सूजी सारा पानी सोक लेगी और मुलायम आटा तैयार हो जाएगा अब उस आटे की छोटी छोटी गोल लोइयां तैयार कर लें, और दूसरी तरफ एक कढाई में तेल अच्छे से गरम होने दें, उसके बाद फटाफट लोइयों को अंडाकार या गोल आकार की पुरियां बनाकर डालते जाएँ और एक बात और पुरियां सिर्फ एक साइड ही सेकनी हैं ( क्योंकि सूजी के गोलगप्पे हमेशा एक साइड ज्यादा लाल होते और दूसरी तरफ सफ़ेद ). अब बाकी की सारी पुरियां भी तले, अब देखेंगे आप की पुरियां फूल के गोलगप्पों जैसी बन गयी, अब आपके कुरकुरे गोलगप्पे बन के तैयार हैं . गोलगप्पों के लिए पानी तैयार करें - पहले एक बाउल में १/२ लीटर ठंडा पानी लें अब उसमे भुना जीरा, हरी धनियाँ की चटनी एक चुटकी हींग , लाल मिर्च पाउडर, जलजीरा, नीम्बू का रस, कला एवं सफ़ेद नमक स्वादानुसार, भीगी हुई बून्दियों को अच्छे से मिला ले अब बाकि का बचा 1 लीटर पानी भी अच्छे से मिक्स कर लें और थोड़े बर्फ के टुकड़े मिला लें . अब आपका गोलगप्पे के लिए पानी तैयार है. अगर आप ये रेसिपी या अन्य व्यंजनों को देखने में रूचि रखते हैं तो कृपया कर के नीचे दिए गए विडियो pe नज़र डालें और नए नए रोचक चटपटे व्यंजनों को सीखने के लिए हमारी website की सदस्यता ले सकते हैं या फिर हमारे youtube चैनल को भी join कर सकते हैं दोस्तों यदि आपको रेसिपी पसंद आई है तो like कीजियेगा और दोस्तों के साथ रेसिपी को साझा कीजियेगा और कोई राय या सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट कीजियेगा सोंठ चटनी की रेसिपी यहाँ से देख सकते हैं गोलगप्पों के अन्दर उबले आलू के छोटे टुकड़े और सफ़ेद उबली मटर या सफ़ेद छोले, मीठी सोंठ, गोलगप्पों का पानी डालकर सर्व करें मजेदार तीखे चटपटे गोलगप्पे तैयार हैं .